कांग्रेस के चुनाव अभियान का नाम ‘उत्तराखंड स्वाभिमान यात्रा’ : रावत

0
75
NEW DELHI, INDIA - MARCH 13: Congress leader Harish Rawat with his supporters at his residence in New Delhi on Wednesday. Rawat has been denied the post of Uttarakhand Chief Minister by party high command. (Photo by Kaushik Roy/India Today Group/Getty Images)

देहरादून,  हमारे चुनाव अभियान का नाम ही होगा ‘उत्तराखंड स्वाभिमान यात्रा’। ये बातें मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में पत्रकारों से बातचीत में कही। केंद्र सरकार ने सत्ता का दुरूपयोग करते हुए उत्तराखंड के स्वाभिमान को लगातार चोट पहुचाई है। केंद्र सरकार के इस व्ययवहार को लेकर हम जनता के बीच जाएंगे। हम उत्तराखंड के स्वाभिमान से कोई समझौता नहीं करेंगे। हरीश रावत ने भविष्य के अपने 09 संकल्पों की पुस्तिका भी जारी की। इस दौरान कांग्रेस के केंद्रीय पर्यवेक्षक राजकुमार, प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, मातबर सिंह कंडारी, राजीव कंडारी, मीडिया सलाहकार सुरेंद्र अग्रवाल प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

सीएम ने कहा कि मानवता के इतिहास की बड़ी त्रासदी केदारनाथ आपदा के मामले में प्रधानमंत्री और उनकी टीम ने हमारे घावों पर कोई मरहम नहीं लगाया। बल्कि यूपीए सरकार द्वारा स्वीकृत आठ हजार करोड़ के आपदा राहत पैकेज को इस सरकार ने रोका। इतना ही नहीं, 14वें वित्त आयोग की संस्तुतियों से भी हमें चोट पहुंचाया गया। सीएम रावत ने कहा कि भाजपा ने राज्य के ऊपर दलबदल थोपने का भी घिनौना पाप किया। इसे सर्वोच्च न्यायालय ने भी संवैधानिक पाप कहा है। राज्य के निर्वाचित मुख्यमंत्री के खिलाफ तथाकथित स्टिंग को आधार बना राष्ट्रपति शासन लगाया लेकिन कोर्ट में ये पाप खुल गया। मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य विधानसभा द्वारा पारित बजट को भी सर्कार ने नहीं माना। एपीएल के गेहूं और मिटटी के तेल को भी हमें नहीं दिया। यह उत्तराखंड पर केंद्रीय सरकार की तानाशाही थी।उन्होंने कहा कि हम इन्ही सब तथ्यों के साथ जनता के बीच जाएंगे। उन्होंने कहा कि हमने अपने कार्यलाल में 3823 घोषणाएं की हैं जिसमे 57 फीसदी को पूरा किया जा चुका है बाकी पर काम अभी भी चल रहा है। ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY